Shri Hanuman Chalisa In Hindi Lyrics Pdf, Padhne Ke Niyam, Fayde

Shri Hanuman chalisa in Hindi lyrics (श्री हनुमान चालीसा) श्रीरामचरितमानस (अवधी भाषा में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित महाकाव्य) से ली गई है।श्री हनुमान चालीसा में हनुमान जी के कई नाम हैं। Hanuman chalisa in Hindi lyrics में भगवान हनुमान की स्तुति करने के लिए कुल 40 चौपाई प्रस्तुत किए गए हैं।हनुमान चालीसा में शब्द “हनुमान” को भगवान राम के भक्त के रूप मे संबोधित किया गया है और शब्द “चालीसा” का मतलब है संख्या 40 (चालीस) |
 
इस पोस्ट में श्री हनुमान चालीसा श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुर सुधारी PDF के साथ बहुत अच्छा प्रस्तुत किया गया है | और pdf की सबसे अच्छी बात,यह पीडीएफ केवल एक पृष्ठ में है |
आप यहां से 100% फ्री में Hanuman chalisa in Hindi lyrics PDF download कर सकते हैं। और आप आज से हनुमान चालीसा का जाप शुरू कर सकते हैं |क्या आप जानते हैं कि हनुमान चालीसा का पाठ कैसे और कब करना चाहिए?
हनुमान जी की पूजा में संकट मोचन हनुमान चालीसा और हनुमान अष्टक का बहुत महत्व है।

 

हनुमान चालीसा से संबंधित जानकारी: –


भजन —
हनुमान चालीसा
भाषा —- अवधी (बाद में कई भाषाओं में अनुवादित)
धर्म —– हिंदू

लेखक — गोस्वामी तुसीलदास (16 वीं शताब्दी के कवि)

 

Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi:-

|| दोहा ||
श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मन मुकुर सुधारी |
वरनौ रघुवर विमल जसु, जो दायक फल चारी ||
बुद्धिहिन तनु जानिके, सुन लो पवन कुमार |
बल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु क्लेश विकार ||
 
 
|| चौपाई ||
 
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर |
जय कपिश तिहु लोक उजागर |१|
राम दूत अतुलित बलधामा |
अंजनी पुत्र पवन सूत नामा |२|
महावीर विक्रम बजरंगी |
कुमति निवार सुमति के संगी |३|
कंचन वरन विराज सुबेसा |
कानन कुंडल कुंचित केशा |४|
हाथ वज्र और ध्वजा विराजे |
कंधे मुंज जनेऊ साजे |५|
शंकर सुवन केशरी नंदन |
तेज प्रताप महा जग बंधन |६|
 
 
विद्यावान गुनी अति चातुर |
राम काज करने को आतुर |७|
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया |
राम लखन सीता मन बसिया |८|
सूक्ष्म रूप धरी सियही दिखावा |
विकट रूप धरी लंक जरावा |९ |
भीम रूप धरी असुर संहारे |
रामचंद्र जी के काज सवाँरे |१०|
लाये संजीवन लखन जियाये |
श्री रघुवीर हरषी उर लाये |११|
रघुपति किन्ही बहुत बड़ाई |
तुम मम प्रिय भरतहीं सम भाई |१२|
 
 
सहस बदन तुम्हरो यश गावें |
असि कही श्री पति कंठ लगावे |१३|
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा |
नारद सारद सहित अहिषा |१४|
यम कुबेर दिग्पाल जहाँ ते |
कबि कोबिद कही सके कहाँ ते |१५|
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा |
राम मिलाये राज पद दीन्हा |१६|
तुम्हारो मंत्र विभीषण माना |
लंकेश्वर भय सब जग जाना |१७|
युग सहस्र योजन पर भानु |
लील्यो ताहि मधुर फल जानू |१८|
 
 
प्रभु मुद्रिका मेलि मुखी माहि |
जलध लांघ गए अचरज नाही |१९|
दुर्गम काज जगत के तेते |
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते |२०|
राम दुवारे तुम रखवारे |
होत न आज्ञा बिनु पैसारे |२१|
सब सुख लहे तुम्हारे सरना |
तुम रक्षक काहू को डरना |२२|
आपन तेज सम्हारो आपे |
तीनों लोक हांक ते कापे |२३|
भुत पिचास निकट नहीं आवे |
महावीर जब नाम सुनावे |२४|
 
 
नासे रोग हरे सब पीरा |
जपत निरंतर हनुमत वीरा |२५|
संकट तें हनुमान छुडावें |
मन क्रम वचन धयान जो लावें |२६|
सब पर राम तपस्वी राजा |
तिन के काज सकल तुम साजा |२७|
और मनोरथ जो कोई लावे |
सोई अमित जीवन फल पावें |२८|
चारो जुग प्रताप तुम्हारा |
होई प्रसिद्द जगत उजियारा |२९|
साधू संत के तुम रखवारे |
असुर निकन्दन राम दुलारे |३०|
 
 
अष्ट सिद्ध नौ निधि के दाता |
असबर दिन जानकी माता |३१|
राम रसायन तुम्हरे पासा |
सदा रहो रघुपति के दासा |३२|
तुम्हारो भजन राम को पावें |
जनम जनम के दुःख बिसरावे |३३|
अंतकाल रघुवीर पुर जाई |
जहाँ जन्म हरी भक्त कहाई |३४|
और देवता चित्त न धरहीं |
हनुमत से सर्व सुख करहीं |३५|
संकट कटे मिटे सब पीरा |
जो सुमिरै हनुमत बलवीरा |३६|
 
 
जय जय जय हनुमान गोसाईं |
कृपा करहु गुरुदेव कि नाहीं |३७|
जो सत बार पाठ कर कोई |
छुटहीं बंदि महा सुख होई |३८|
जो यह पढ़े हनुमान चालीसा |
होए सिद्दी साखी गौरीसा |३९|
तुलसीदास सदा हरी चेरा |
कीजै नाथ हृदय मह डेरा |४०|
 
|| दोहा ||
पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरत रूप |
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप ||
 
 

Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi PDF Download :-

जैसा की हम लोग जानते है कि कभी बिजली न होने के कारण आपका मोबाइल या लैपटॉप की बैट्री डिस्चार्ज हो जाये या इन्टरनेट कनेक्शन बंद हो तो आप की पूजा बाधित हो सकती है हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए शुद्ध उच्चारण का विशेष महत्त्व होता है | इसलिए Hanuman chalisa lyrics in Hindi PDF  को download करके प्रिंट आउट निकल लेना ही उचित रहता है |

अगर आप हर रोज हनुमान चालीसा का शुद्ध उच्चारण के साथ जाप करना चाहते हैं तो आपके पास हनुमान चालीसा बुक या हनुमान चालीसा पीडीऍफ़ का होना बहुत जरुरी है | Hanuman chalisa pdf को download करने के लिए दिए गए        इस लिंक Hanuman Chalisa Lyrics in Hindi PDF पर क्लिक करके हनुमान चालीसा डाउनलोड कर सकते हैं|

 

Hanuman chalisa padhne  ke Niyam/Vidhi:

सबसे पहले तो आपके पास हनुमान चालीसा का बुक या Hanuman chalisa lyrics in Hindi PDF या प्रिंट आउट होना चाहिए |

मंगलवार और शनिवार को हनुमान जी का दिन माना जाता है तो हनुमान जी के पूजा की शुरुआत मंगलवार या शनिवार से ही करना चाहिए |

प्रतिदिन प्रातः काल स्नान करके स्वच्छ कपडे पहनें, हो सके तो पूजा के समय पीला वस्त्र धारण करें तो अति उत्तम होगा |

हनुमान जी का तथा श्री राम जी का मूर्ति या फोटो सामने रखकर एवं एक घी का दीपक जलाकर बैठ जायें और सामने एक ताम्र के वर्तन में पानी रख लें, अब अपने मन को शांत करें अपने सामने रक्खे तस्वीर पर ध्यान केंद्रित करें |

जब ध्यान केंद्रित हो जाए तब आप हनुमान चालीसा पीडीऍफ़ को अपने सामने रखकर पूर्ण आस्था के साथ पाठ करें |

पाठ के अंत में आप गुण एवं चने का प्रसाद ग्रहण करे तथा ताम्र के वर्तन से पानी निकाल कर उसका अपने शारीर पर छिडकावकरें इससे नकारात्मक उर्जा आपसे दूर रहती हैएवं प्रसाद को अन्य लोगों में वितरित करें और यदि संभव हो गौ माता को प्रसाद खिलाएं |

 

Hanuman chalisa Padhne ke fayde :

हनुमान चालीसा पढने के फायदे तो बहुत से हैं लेकिन यहाँ पर महत्वपूर्ण फायदे या लाभ के बारे में बताया गया है जो की निम्नलिखित हैं-

1. कहा जाता है कि संकट मोचन हनुमान जी का नाम लेने मात्र से ही रोग, शोक मिट जाते हैंनाशे रोग हरें सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत वीरा |

2. जो व्यक्ति हनुमान जी की पूजा करेगा उसको श्री राम जी का आशीर्वाद स्वतः प्राप्त हो जायेगा जो की वर्णन भी किया गया हैतुम्हरो भजन राम को पावें, जनमजनम के दुःख बिसरावैचुकि हनुमान जी को शिव जी का अवतार माना गया है तो शिव जी की कृपा भी आप पर बनी रहेगी |

3. Hanuman chalisa lyrics in Hindi  का पाठ करने से तनाव कम होता है, एवं मन को शांति मिलती है |

4. हनुमान चालीसा का पाठ करने से भूत प्रेत जैसी बाधाओं से छुटकारा मिल जाता है, इसकाहनुमान चालीसा में वर्णन भी किया गया हैभूत पिशाच निकट नहीं आवे, महावीर जब नाम सुनावें |

5. संकट मोचन का पूजा करने से बल, बुद्धि, विद्या तीनों की प्राप्ति होती हैबल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार |

6. शारीर से नकारात्मक उर्जा समाप्त हो जाती है एवं पोजिटिव उर्जा का संचरण होने लगता है |

7. हनुमान जी का नियमित पाठ करने से संकट मोचन हनुमान जी अपने भक्तो के ऊपर कोई संकट नहीं आने देते हैंसंकट कटे मिटे सब पीरा, जो सुमिरै हनुमत बलबीरा |

8. Hanuman chalisa lyrics in Hindi  का नियमित पाठ करने से यात्रा मंगलमय हो जाता है |

9. हनुमान जी अपने भक्तो की मनोकामनाएं शीघ्र पूर्ण करते हैं, क्योकि हनुमान जी को अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता कहा गया है |

10. बजरंगबली का नित्य पाठ करने से शनि के प्रभाव को भी कम किया जा सकता है |

11. इसका नियमित पाठ करने से आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है |

 

 हनुमान चालीसा कितनी बार पढना चाहिए ?

कुछ लोग हनुमान चालीसा १०८ बार पढते हैं तो कुछ ७ बार पढतें हैं और कुछ लोग ११ बार |

ये सब आप आपके समय और स्थिति पर निर्भर करता है | यदि आपके पास समय है तो आप १०८ बार पढ़ सकते हैं | लेकिन मेरा मानना है कि हनुमान चालीसा रोज १ बार पढ़ सकतें हैं क्यों कि १ बार पूरा हनुमान चालीसा का पाठ करने में कम से कम ४ से ५ मिनट का समय लगता है |

१०८ बार हनुमान चालीसा पढने के फायदे:-

तो मेरा मानना है कि यदि आपके पास समय है तो आप १०८ बार पढ़ सकते है आप १०८ बार या ७ बार या ११ बार या १ बार पढ़े आपको समान फायदे होंगे लेकिन १०८ बार हनुमान चालीसा पढने के फायदे शीघ्र मिलेंगे अन्य कि तुलना में | रोज एक बार पढ़ने के फायदे धीरे-धीरे होंगे |

 

हनुमान चालीसा का पाठ करने का सर्वोत्तम समय :-

हनुमान चालीसा का पाठ करने का सबसे अच्छा समय सुबह और शाम है। इसका मतलब है कि आपको दिन में 2 बार हनुमान चालीसा का जाप करना चाहिए।

हनुमान जी कि पूजा करने के लिए सबसे अच्छा समय सुबह का होता है इसलिए हनुमान चालीसा का पाठ रोज सुबह में करना अच्छा होता है |

श्री हनुमान चालीसा का पाठ करने का मेरा सुझाव :-

यदि आप हनुमान चालीसा का पाठ करने को इच्छुक हैं तो आपको रोज सुबह कम से कम एक बार हनुमान चालीसा का उच्चारण लय के साथ करना चाहिए।

यदि आप पूर्ण आस्था और विश्वास के साथ हनुमान जी कि आराधना करते हैं तो धीरे-धीरे आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव महसूस करना शुरू कर देंगे। धीरे-धीरे हर एक स्थिति आपके फेवर में होगी।
 
You may like to read Hanuman Ashtak
 

 

Song Credits:

Music Label: T-Series
Album: Shree Hanuman Chalisa – Hanuman Ashtak
Singer: Hariharan
Composer: LALIT SEN, CHANDER
Author: Traditional (Tulsi Das)

 

 

Leave a Comment